PCS Full Form & Details in Hindi | PCS Exam के बारे में सम्पूर्ण जानकारी!

Rate this post

अनुक्रम

पीसीएस का क्या मतलब है? PCS एग्जाम का फुल फॉर्म? PCS अधिकारी कैसे बने? पीसीएस का एग्जाम कब होता है? PCS में कौन कौन सी पोस्ट होती है? और PCS Exam के बारे में सम्पूर्ण जानकारी जाने!

वर्तमान समय मे देश के सभी राज्य में राज्य प्रशासनिक को चलाने के लिए राज्य सेवा आयोग का एग्जाम कराता है, यदि आप राज्य सेवा आयोग में जाना चाहते है तब आपको PCS का एग्जाम क्लियर करना होगा, UPSC (Union Public Service Commission) जिस तरह से IAS व विभिन्न अधिकारी के लिए परीक्षा कराता है उसी समान राज्य में deputy Collector व अन्य अधिकारियों के लिए पेपर का आयोजन होता है, आज हम इस पोस्ट के माध्यम से विस्तार से PCS एग्जाम के बारे में जानेंगे कि कौन इसे दे सकता है योग्यता क्या होनी चाहिए एवं PSC का पेपर कैसे होता है

दोस्तों My Secret Guide में आप लोगो का स्वागत है, आज हम जानने वाले हैं पीएससी एग्जाम के बारे में, PCS exam full form Kya Hai in Hindi? PCS एग्जाम क्या है? क्यों देते हैं? इस एग्जाम को क्लियर कर लेने के बाद आपको कौन-कौन सी पोस्ट पर नौकरी मिल सकती हैं? इसमें सैलरी कितनी मिलती है? PCS exam का पैटर्न क्या है? इन सभी प्रश्नों के बारे में आपको इस आर्टिकल में पता चल जायेगा तो चलिए जानते है सम्पूर्ण जानकारी | 

पीसीएस (PCS) का फुल फॉर्म (PCS Exam Full Form in Hindi)

PCS ka full form kya hai: पीसीएस (PCS) का पूरा नाम प्रोविंशियल सिविल सर्विस है, इस परीक्षा का आयोजन उतर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा किया जाता है, इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के पश्चात अभ्यार्थी को SDM, DSP, ARTO, BDO, जिल्ला अल्पसंख्यक अधिकारी, जिला खाद्य विपलन अधिकारी, असिस्टेंट कमिश्नर व्यापर कर समेत विभिन्न विभागों में उच्च पदों पर नियुक्ति प्राप्त होती है।

पीसीएस (PCS) को हिंदी में “प्रांतीय सिविल सेवा” और इसे इग्लिश में Provisional Civil Service” के नाम से जाना जाता है।

P – प्रांतीय (Provisional)

C – सिविल (Civil)

S – सेवा (Service)

इसे भी पढ़े!

PCS क्या है (What is PCS in Hindi & PCS Exam Full Details in Hindi)

वर्तमान समय मे यदि आप सिविल सर्विसेज की तैयारी करना चाहते है एवं PCS के बारे में नही जानते है तो इस पोस्ट में आपको सभी जानकारी मिल जाएगी।PCS का पूरा नाम Provisional Civil Service  होता है जिसे राज्य सेवा आयोग के नाम से भी जाना जाता है, PCS का एग्जाम वैकेंसी के मुताबिक राज्य सेवा आयोग हर साल आयोजित करता है व रिक्त पदों में भर्ती करता है, PCS exam तीन चरण में होता है, पहले prelims फिर mains व अंत मे लास्ट चरण interview के होता है इस तीनो एग्जाम निकलने के बाद दूसरे चरण व अंतिम चरण के नम्बर को मिलाकर मैरिट लिस्ट आता है व उसके हिसाब से रिक्त पदों में भर्ती होता है।

PCS एग्जाम के लिए योग्यता क्या होना चाहिए (PCS Exam Eligibility)

  • जो भी व्यक्ति आवेदन करता है वह भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • PCS के किसी भी पोस्ट में जाना चाहते है तब आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन होना चाहिए।
  • आपका न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होना चाहिए तथा अधिकतम उम्र यदि आप अनारक्षित वर्ग से है तब 30, OBC वर्ग से है तब 32आरक्षित वर्ग से है तब लगभग 38 वर्ष तक आप पेपर दे सकते है।

PCS एग्जाम के लिए आवेदन कैसे करे (PCS Exam Registration)

  • PCS में आवेदन के लिए प्रीलिम्स में पहले होता है, इसके राज्य सेवा आयोग के आधिकारिक वेबसाइट (http://uppsc.up.nic.in/) को वेब ब्राउज़र में सर्च करे व अप्लाई फ़ॉर PCS में क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद उसमें अपना नाम, ईमेल एड्रेस एवं फ़ोन नंबर भरे व सही ढंग से रेजिस्ट्रेशन करे।
  • रेजिस्ट्रेशन करने के पश्चात आईडी लॉगिन करे एवं अपना सम्पूर्ण निजी जानकारी नाम, डेट ऑफ बर्थ, माता पिता का नाम, एवं शैक्षणिक योग्यता आदि साफ व सही सही भरें। 
  • सभी जानकारी भरने के पश्चात, आपको सिग्नेचर फ़ोटो स्कैन करके अपलोड करना होगा।
  • इसके पश्चात, ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन फीस देना होता है या फिर डिमांड ड्राफ्ट बनवाकर बैंक में पे कर सकते है।
  • प्रिलिम्स निकलता है तब आप मेन्स के लिए फॉर्म भर सकते है उसके लिए पर्टिकुलर नोटिस जारी होता है उसके अनुरूप ही Mains का फॉर्म जमा किया जाता है। 
  • Mains के बाद तीसरा चरण इंटरवयू होता है उसके लिए किसी तरह का फॉर्म भरने की आवश्यकता नही होता है उसके लिए राज्य सेवा आयोग से फ़ोन या फिर लेटर आता है।
  • इस तरह से तीन चरण में होने वाला PCS exam का फॉर्म भरा जाता है।

PCS एग्जाम के आवदेन के लिए आवश्यक दस्तावेज (PCS Exam Registration Requirements)

  • आधार कार्ड व मतदाता परिचय पत्र होना चाहिए। 
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो अनिवार्य है।
  • बर्थ सर्टिफिकेट
  • निवास प्रमाण पत्र एवं स्थायी प्रमाण पत्र
  • आरक्षित वर्ग से आते है तब जाति प्रमाण पत्र आवश्यक है।

PCS पेपर कितने चरण में होता है (PCS Exam Syllabus) 

UPSC के समान ही PCS तीन अलग अलग चरण में होता है-

1. प्रांरभिक परीक्षा (Preliminary)

2. मुख्य परीक्षा (Mains) 

3. मौखिक परीक्षा (Interview) 

1. प्रांरभिक परीक्षा (Preliminary)

इसके लिए सभी वर्ग के लोग एवं जो किसी भी सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन है व उसका उम्र 21 वर्ष न्युनतम होता है व सभी योग्य होते है, इसके लिये किसी तरह का रूल नही होता है, प्रीलिम्स में दो पेपर होता है एक पेपर GS (General Studies) व दूसरा Reasoning होता है जब रीजनिंग में 33% आता है तब GS पेपर चेक होता है।

2. मुख्य परीक्षा (Mains) 

मेन्स का पेपर PCS एग्जाम में दूसरा चरण होता है जैसे ही प्रीलिम्स में GS पेपर में कटऑफ क्लियर करते है तब जाकर मेन्स पेपर देते है, मेंस में 7 पेपर होता है, जो कि लगातार 4 दिनों तक चलता है, इसमें एक निबंध, एक लैंग्वेज व 5 GS पेपर होता है।

3. मौखिक परीक्षा (Interview)

PCS के एग्जाम में यह अंतिम चरण है व कम नंबर को होता है लेकिन इसी पर पूरा रिजल्ट टिका होता है, Mains में अच्छा परफॉर्मेंस होता है तब इंटरवयू में सेलेक्शन होता है एवं राज्य सेवा आयोग PSC एग्जाम दिए कैंडिडेट को फ़ोन करके या फिर लेटर के माध्यम से इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करता है। जैसे ही इंटरव्यू होता है फिर PCS एग्जाम का मैरिट लिस्ट निकलता है।

तीन चरण में होने वाला PSC का पेपर एक तरह से 1 साल तक चलता है प्रीलिम्स के फॉर्म भरने से लेकर mains व इंटरव्यू के रिजल्ट के आने में लगभग 1 साल का लंबा समय होता है, PSC में जाने के लिए लोग अलग अलग स्तर में तैयारी करते है।

PCS एग्जाम में कौन से पोस्ट में नियुक्ति होता है (PCS All Post in Hindi)

PCS एग्जाम जैसे ही निकलता है तब आप जो भी पोस्ट चुनते है उस पोस्ट में रैंक के अनुसार नियुक्ति होता है यदि आपने पोस्ट कुछ और चुना है व आपका रैंक अच्छा होता है फिर भी वह पोस्ट नही मिलेगा यदि वह आपसे पहले वाले रैंक तक वह सीट फूल हो जाता है, PCS एग्जाम क्रेक करने के बाद आपका निम्न पोस्ट में भर्ती होगा Deputy Collector, Deputy Superintendent Of Police (DSP), Block Development Officer (BDO), Assistant Regional Transport Officer, Assistant Commissioner (Commercial Tax), District Commandant Home Guards, Treasury Officer/Accounts Officer (Treasury), Cane Inspector And Assistant Sugar Commissioner, Superintendent Jail, Manager Credit (Small Industries), व Nayab Tahasildar आदि पोस्ट में होता है। 

PCS अधिकरियों की सैलरी कितना होता है (PCS Officer Salary)

PSC अधिकारियों की सैलरी शुरुआत समय मे लगभग 25 हजार से 50 हजार तक होता है, सैलरी पोस्ट के अनुसार निर्भर करता है, अलग अलग पोस्ट में नियुक्ति पर अलग अलग सैलरी होता है, PCS में सबसे अधिक सैलरी डिप्टी कलेक्टर का होता है व सबसे कम नायाब तहसीलदार का होता है।

PCS और IAS में क्या अंतर होता है? (Difference Between PCS and IAS)

जैसा की अपने ऊपर पढ़ा PCS यानि Provincial Civil Services होता है और IAS यानि की Indian Administrative Services होता है दोनों ही इंडियन गवर्नमेंट एडमिनिस्ट्रेशन बहोत ही महत्वपूर्ण पोस्ट होती है। पीसीएस हमेशा से ही आईएएस के कायदे से काम करता है हर डिपार्टमेन्ट में स्टेट PCS की तहनाती बहोत ही महत्वपूर्ण पोजीशन पर होती है। लेकिन एक PCS के अधिकार, सैलेरी और वर्क इत्यादि IAS के मुकाबले काफी कम होते है।

Recruitment

एक PCS का रिक्रूटमेंट विभिन्न State Public Service Commission द्वारा किया जाता है हर राज्य का अलग-अलग exam pattern तथा syllabus होता है। और वही हम बात करे IAS की तो उसकी रिक्रूटमेंट Union Public Service Commission द्वारा होता है यह एग्जाम हर साल भारत में आयोजित होता है और सभी के लिए एक कॉमन एग्जाम पेपर होता है। और सभी के exam pattern तथा syllabus same ही होता है।

Appointment & Cadre Controlling

PCS का अपॉइनमेंट State Governors द्वारा किया जाता है और उनकी Cadre Controlling Authority राज्य का Personnel Department होता है जोकि डायरेक्टली मुख्यमंत्री के अंतर्गत आता है। IAS का अपॉइनमेंट भारत के President द्वारा किया जाता है लेकिन वे राज्य सरकार के अधीन काम करते है। IAS की Cadre Controlling Authority Ministry of Personal होती है जोकि डायरेक्टली प्राइमिनिस्टर ऑफ़ इंडिया के अंतर्गत आता है।

Salary & Perks

PCS की सैलरी राज्य सरकार तय करती है लेकिन यह हर राज्य में अलग-अलग हो सकती है इसके साथ ही PCS ऑफिसर को जो सुविधाए मिलती है वह राज्य के अनुसार ही मिलती है। IAS की सैलरी केंद्र सरकार तय करती है लेकिन इसे देना राज्य सरकार को होता है। खास बात यह है की IAS officer की तेहनति किसी भी राज्य में हो सकती है लेकिन सभी राज्यों में ऑफिसर की सैलरी एक समान मिलती है। और अन्य सुविधा राज्य के अनुसार मिलती है।

इसे भी पढ़े!

Powers & Responsibilities

सबसे ज्यादा पावर एंड रेस्पोंसिबिलिटी IAS officer के पास ही होती है किसी भी डिपार्टमेंट में सबसे ऊपर IAS officer ही तेहनत होता है किसी भी डिपार्टमेंट में सभी महत्वपूर्ण निर्णय आईएएस अफसर के approval से ही होते है।

PCS Officers हमेशा IAS Officers के अंतर्गत ही काम करता है कई महत्वपूर्ण निर्णय के लिए PCS Officers को छूट दी जाती है लेकिन Important डिसीजन के लिए IAS के Approval की आवश्यकता होती है। कुछ खास किस्सों में PCS को Chief Minister  द्वारा Special Duty नियुक्त किया जाता है इस केस में उन्हें बहोत सारे विशेष अधिकार प्राप्त हो जाते है जिसके जरिये उन्हें बहोत ज्यादा independent और power मिल जाते है।

Conclusion!

दोस्तों में आशा करता हु की आप लोगो को पीसीएस का क्या मतलब है? PCS Exam Full Form in Hindi? PCS अधिकारी कैसे बने? पीसीएस का एग्जाम कब होता है? PCS में कौन कौन सी पोस्ट होती है? और PCS Exam के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त हुई होगी। PSC Officer की जॉब पाना इतना मुश्किल भी नहीं है अगर आप मेहनत और लगन से पढाई करें और इस पद में इतना सम्मान और अधिकार मिलता है की आप सोच भी नहीं सकते। मेरा सभी दोस्तों से निवेदन है की आप भी PCS exam की तैयारी करे और PCS Officer बांके देश की सेवा करे धन्यवाद्।

Spread the love

Leave a Comment