(6G Technology) China Claims New World Record in 2022 | चीन ने 6G टेक्नोलॉजी तैयार कर बनाया ‘वर्ल्ड रिकॉर्ड’

China Claims New World Record in 2022

5G से भी 100 गुना तेज चलने वाली टेक्नोलॉजी और 10 हजार HD लाइव वीडियो को किया स्ट्रीम जाने पूरी जानकारी 6G टेक्नोलॉजी के बारे में!

6G technology 2022: एक एक्सपेरिमेंट से चीनी रिसर्चर्स ने यह दावा किया कि एक नई तकनीक के इस्तेमाल से डेटा स्ट्रीमिंग स्पीड 5G से भी 100 गुना ज्यादा तेज़ हो सकती है और यह उन्होंने लाइव स्ट्रीमिंग करके भी बताया। इस एक्सपेरिमेंट से ये बात सामने आई है कि चीन 6जी (6G Technology in Hindi) के लिए संभावित महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजी पर रिसर्च में दुनिया का नेतृत्व कर रहा है।

देश और दुनियाभर में अभी 5G Technology के ऊपर काम किया जा रहा है, वही चीन विश्व में टेक्नोलॉजी की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाते हुए 6G Technology के ऊपर काम शुरू कर चूका है। वही 6जी टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे चीनी (China) रिसर्चर्स ने यह चौंकाने वाला दावा किया है की उन्होंने एक ऐसी तकनीक का अविष्कार किया है जिसका इस्तेमाल कर डेटा स्ट्रीमिंग स्पीड 5G से भी 100 गुना तेज चला सकते है और यह दावा कर उन्होंने दुनियाभर में एक नया रिकॉर्ड बनाया है। चीन का मानना है की यह टेक्नोलॉजी आनेवाली पेढ़ी के लिए वायरलेस कम्युनिकेशन में प्रतिस्पर्धात्मक लाभ प्राप्त करने में मदद कर सकती है।

ने 6जी टेक्नोलॉजी तैयार कर बनाया ‘वर्ल्ड रिकॉर्ड
6G Technology in Hindi

6G टेक्नोलॉजी क्या है (6G Technology in Hindi)

6G का full form होता है “Generation Communication” यह 5G के उपरांत एक Significant Evolution है, जिसकी क्षमता होगी की ये अलग अलग प्रकार के नेटवर्क को Self Aggregate करने में सक्षम होगा। जहाँ 5G Technology बहुत से अलग प्रकार के Networks को Accommodate करने में सक्षम है लेकिन 6G Technology ये काम को Autonomously ही कर सकता है वो भी जब उसकी जरुरत हो।

एक सेकेंड में एक टेराबाइट डेटा एक किमी तक भेजा!

चीन के रिसर्चर्स ने वोरटेक्स मिलीमीटर वेव्स (Vortex Millimeter Waves) के इस्तेमाल से एक सेकेंड में एक टेराबाइट (TB) डेटा एक किमी तक भेजा, बताये गए एक साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के अनुशार वोरटेक्स मिलीमीटर वेव्स (Vortex Millimeter Waves) एक तरह की हाई फ्रीक्वेंसी रेडियो वेव होती है, जो तेजी से स्पिन होती है। वही सिंघुआ यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के प्रोफेसर झांग चाओ (Zhang Chao) के नेतृत्व में काम कर रही एक टीम ने 9 फरवरी को दिए एक बयान में कहा कि पिछले महीने बीजिंग विंटर ओलंपिक (Beijing Winter Olympics) कंपाउंड में स्थापित एक्सपेरिमेंटल वायरलेस कम्युनिकेशन लाइन एक साथ 10 हजार से अधिक हाई-डेफिनिशन (HD) लाइव वीडियो फीड स्ट्रीम कर सकती है। 

6G टेक्नोलॉजी की स्पीड 5G से 100 गुना ज्यादा तेज है

एक एक्सपेरिमेंट से चीनी रिसर्चर्स ने यह दावा किया कि 6G टेक्नोलॉजी की स्पीड 5G से 100 गुना ज्यादा तेज है और 6G रिसर्चर्स के मुताबिक, Winter Olympic compound में स्थापित एक्सपेरिमेंटल वायरलेस लाइन एक साथ 10 हजार से भी अधिक HD live videos फीड स्ट्रीम कर सकती है। यह टेक्नोलॉजी आने वाले समय में एक नए भौतिक आयाम को पेश करने के बारे में है, जो लगभग 2022 में असीमित संभावनाओं के साथ एक पूरी नई दुनिया निर्माण करने में मदद कर सकती है। चीन 6G के लिए संभावित महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजी पर रिसर्च में दुनिया का नेतृत्व भी कर रहा है।

होमपेजयहाँ क्लिक करे!

इसे भी पढ़े!

कितनी जरुरी है 6G टेक्नोलॉजी? 

रिसर्च टीम ने यह भी दवा किया की 6जी टेक्नोलॉजी हाइपरसोनिक हथियार के लिए काफी जरुरी है, क्यों की 6जी टेक्नोलॉजी से हाइपरसोनिक हथियार के इस्तेमाल से टारगेट का पता लगा सकता है। वही कम्युनिकेट करने भी आसानी हो सकती है। क्यों की ज्यादातर देखा गया है कि ध्वनि की गति से पांच गुना ज्यादा अधिक की रफ्तार वाली हाइपरसोनिक मिसाइल कई बार नेटवर्क की वजह से ब्लैकआउट का सामना करती है।

चीन ने कई मौकों पर संकेत दिया है कि वह आने वाले भविष्य में युद्ध के स्तर पर 6G Technology का इस्तेमाल कर रहा है। झांग (Zhang) और उनके सहयोगियों का मानना है की, पिछली शताब्दी में रेडियो संचार में देखी गई किसी भी चीज के विपरीत, वोरटेक्स वेव्स ने वायरलेस ट्रांसमिशन को एक नया आयाम प्रदान किया है जो आने वाले भविष्य में वरदान साबित हो सकता है।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here