Anita Kumari Football Player Biography in Hindi | अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी जीवनी!

Anita Kumari Football Player Biography in Hindi

अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी का जीवन परिचय, उम्र, धर्म, माता-पिता, परिवार (Footballer Anita Kumari Biography in Hindi) (Footballer Anita Kumari’s Age, Education, Family, House, Experience, Story, Financial Condition)

अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी जीवनी इन हिंदी: अंडर-17 विमेंस वर्ल्ड कप के लिए सिर्फ झारखंड से ही 7 लड़कियों ने टीम में अपनी जगह बनाई है और यह 7 लड़कियां बहुत ही कठिन परिश्रम करके इस मुकाम को हासिल किया है इन्हीं 7 लड़कियों में से एक है अनिता कुमारी जिनकी कहानी वाकई में सराहनीय है .

 दोस्तों अनिता कुमारी बहुत ही गरीब फैमिली से आती हैं लेकिन इनको फुटबॉल खेलने को लेकर जो जुनून है वह इनकी गरीबी से बढ़कर है . यहां पर हम आपको बता दें कि एक फुटबॉलर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और न्यूट्रीशन की जरूरत होती है लेकिन अनीता के घरवालों के पास इतना पैसा नहीं होता था कि वह अपने बेटी को  फल या फिर प्रोटीन से  भरी चीजें अनीता के लिए उपलब्ध करवा सकें.

ऐसे में अनीता का प्रोटीन  माड़ भात हुआ करता था ! अनीता ने माड़ भात खा  कर ही फीफा अंडर 17  वर्ल्ड कप  2022 में अपनी जगह बना ली है.

अनीता फुटबॉलर (Anita Kumari Athlete)

अनीता फुटबॉल में ऑलराउंडर है लेकिन ज्यादातर वो फॉरवर्ड खेलते हैं और एक बेहतरीन स्कोरर भी है और कई गोल्स भी करती हैं.  अनीता की  कोच बताते हैं कि आप अनीता को किसी भी जगह पर ( डिफेंडर,  मिडफील्डर,  या फॉरवर्ड)  खेलवा सकते हो अनीता सब में अव्वल है.

अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी उम्र (Anita Kumari Football Player Age)

अनिता कुमारी की उम्र मात्र 17 साल है और इसीलिए वह अंडर 17 फीफा वर्ल्ड कप 2022 के लिए सिलेक्ट की गई है और इस उम्र में ही उन्होंने बहुत सारे उपलब्धि हासिल की है और भारत  को फुटबॉल गेम के जरिए बहुत बार गौरवान्वित किया है.

अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी फाइनेंसियल कंडीशन

अनिता कुमारी की अगर आर्थिक स्थिति देखी जाए तो बहुत ज्यादा सही नहीं है इनको दो वक्त की रोटी  के लिए भी इनके मां बाप को दिन भर मजदूरी करनी पड़ती है तब जाकर इनका पेट पलता है.

 अनीता की मां बताती हैं कि जो भी उनसे बन पड़ता है वह अनीता के लिए करती हैं लेकिन उसके बाद उन्हें घर भी चलाना होता है,  अनीता की मां और बाप दोनों मजदूरी करते हैं जिस में भी बताते हैं के दिन का 300 से ₹400 रुपए ही जोड़ पाते हैं.

इसे भी पढ़े!

अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी उपलब्धियां (Footballer Anita Kumari Story)

अनिता कुमारी इससे पहले नेशनल लेवल तक फुटबॉल खेल चुकी हैं,  और तो  और एक फुटबॉल मैच के लिए वह विदेश भी जा चुकी हैं वहां पर उन्होंने बेस्ट प्लेयर ऑफ द मैच का अवार्ड भी जीता था. अनीता झारखंड के धनबाद,  मुंबई और रांची जैसे शहरों में खेल कर आ चुकी हैं.

अनिता कुमारी फुटबॉल एक्सपीरियंस (Footballer Anita Kumari Experience)

आपकी जानकारी के लिए बता दें की अनिता कुमारी पिछले 8 साल से फुटबॉल खेल रही है उन्होंने अपने गांव से ही फुटबॉल खेलना चालू किया था और खेलते खेलते वह भारत के लिए नॉर्वे तक जा चुकी हैं और वहां पर भी अपने नाम के झंडे गाड़े हैं .

अनिता कुमारी नॉर्वे में हो रहे मैच में प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब भी जीता है और इससे पहले वह बहुत से खिताब जीत चुकी है .

अनिता कुमारी  रेसिडेंस (Footballer Anita Kumari House)

अनिता कुमारी और उनका परिवार झारखंड के 1 गांव जो कि रांची  में है जिसका नाम चारी होजिर है  यहां रहते हैं!

अनीता ने अपना फुटबॉल करियर की शुरुआत यहीं से की है और अभी भी यहीं पर रहती हैं,

अनिता कुमारी फैमिली (Footballer Anita Kumari Family)

अगर बात करें अनिता कुमारी के फैमिली की तो इनके घर में कुल 7 मेंबर हुआ करते थे जिसमें अनीता के मां बाप और उनकी पांच बेटियां शामिल है जिनमें अनीता भी है .  लेकिन अनीता की तीन बहनों की शादी हो चुकी है और अब अनीता और विनीता ही बचे हैं

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अनीता की छोटी बहन विनीता भी एक फुटबॉल प्लेयर है और उसने अंडर  14  नेशनल लेवल तक खेला है और खेल रही है यह दोनों बेटियां बड़े होकर एक बेहतरीन फुटबॉल प्लेयर बनना चाहती हैं.

 यानी कि कुल मिलाकर उनके घर में अभी 4 लोग हैं अनीता,  विनीता( छोटी बहन)  मां( आशा देवी),  पापा.

अनीता कुमारी फुटबॉल खिलाड़ी एजुकेशन (Footballer Anita Kumari Education)

अनीता फुटबॉल के साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी जारी रखते हैं अनीता अभी रांची के रोमांस कॉलेज में 11 वीं की छात्रा है.  और उनकी पढ़ाई अभी जारी है.

होमपेजयहाँ क्लिक करे!

अनिता कुमारी नीतू लिंडा को फुटबॉल किट देकर सम्मानित किया

जैसे ही झारखंड प्रदेश के कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जायसवाल को पता चला के उनके प्रदेश की   बेटियों का फीफा वर्ल्ड कप अंडर 17 में चयन हो गया है वैसे ही वह अनिता कुमारी व नीतू लिंडा से मिलने आए और उन्हें फुटबॉल किट देकर सम्मानित भी किया .

अनिता कुमारी फुटबॉलर झारखंड बायोग्राफी इन हिंदी  “ दोस्तों अनिता कुमारी  की इस उम्र में इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल करना काफी बड़ी बात है  लेकिन इसके पीछे उन्हें बहुत कठिन परिश्रम करना पड़ा है तब जाकर उन्हें फीफा अंडर- 17 वर्ल्ड कप के लिए चुना गया है .

अनीता के घरवाले बताते हैं कि अनीता को ट्रेनिंग के दौरान बहुत हतोत्साहित किया जाता था कई बार तो जहां पर व ट्रेनिंग करती थी वहां कांच के टुकड़े फेंक दिए जाते थे लेकिन यह सब परेशानियों के बावजूद उसने हार नहीं मानी

 अनिता कुमारी के अलावा झारखंड के छह और लड़कियों को शामिल किया गया है जिनका नाम है पूर्णिमा कुमारी,   शालिनी कुमारी,  सुधा अंकिता,  नीतू लिंडा,  अंजलि गुंडा,  असतं उरांव।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here