Scientist Kaise Bane? | इसरो में साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करना होगा पूरी जानकारी!

Scientist Kaise Bane in Hindi? (How to become a Scientist? 2022) | Scientist क्या होता है, Qualification, Age Limit, Top College List, ISRO, Eligibilty, Salary, Job Options और Scientist कितने तरह के होते है? सब कुछ जाने!

दोस्तों हमारे देश के डेवलपमेंट में वैसे तो सभी का योगदान होता है, लेकिन एक ऐसा वर्ग भी है जिसके बिना किसी भी देश का डेवलपमेंट संभव ही नहीं है। और वह है हमारे देश के साइंटिस्ट जो दिन रात इसी काम में लगे रहते हैं की कैसे हमारा देश दुनिया का सबसे डेवलप कंट्री बने?

वैज्ञानिक (scientist) बनना इतना भी आसान नहीं है या फिर ये कहे कि यह एक ऐसा प्रफेशन है जिससे इंसान को ना तो खुद की परवाह रहती है और ना ही अपने फैमिली की कभी कभी तो कोई साइंटिस्ट एक रिसर्च में सालों लगे रहते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि साइंटिस्ट बनते कैसे हैं (How to become a Scientist), उसके लिए कितनी पढ़ाई करनी होती है और कैसे ISRO और NASA जैसी संस्था में कोई साइंटिस्ट बनते हैं? आज के इस पोस्ट में हम यही जानेंगे कि कैसे कोई स्टूडेंट साइंटिस्ट बन सकता है (scientist kaise bane in hindi). 

तो चलिए शुरू करते हैं लेकिन दोस्तों इससे पहले कि हम साइंटिस्ट कैसे बनें इसके बारे में जानें, उससे पहले उन टॉपिक्स के बारे में जान लेते हैं जिन पर हम बात करने वाले हैं। सबसे पहले साइंटिस्ट कौन होते हैं? क्वालिफिकेशन क्या चाहिए? Age लिमिट कितनी है, साइंटिस्ट कितने तरह के होते हैं, टॉप कॉलेज कौन कौन से हैं, इसरो में साइंटिस्ट कैसे बने, टॉप रिक्रूटर्स कौन कौन है, सैलरी कितनी मीलती है और अंत में साइंटिस्ट के लिए क्या स्किल चाहिए? तो अगर आप भी साइंटिस्ट बनकर देश के डेवलपमेंट में अपना कॉन्ट्रिब्यूशन देना चाहते हैं तो इन टॉपिक्स को अच्छे से समझ लें।

Scientist कौन होते है? (Scientist Kaise Bane in Hindi)

साइंटिस्ट कौन होते हैं, यह समझने से पहले आपके लिए ये जानना जरूरी है कि साइंटिस्ट कई तरह के होते हैं। इसरो साइंटिस्ट अलग होते हैं उसी तरह से मेडिकल के साइंटिस्ट अलग होते हैं ऐसे ही कई विभाग होते हैं जिनमें साइंटिस्ट होते हैं। लेकिन सभी में एक कॉमन बात यह है कि ये सभी वैज्ञानिक हर दिन नए-नए शोध करते रहते हैं, अगर कोई इसरो (ISRO) के साइंटिस्ट है तो वो हर दिन हमारे यूनिवर्स में होने वाली गतिविधि पर नजर रखते हैं और रिसर्च में लगे रहते हैं। जबकि अगर कोई मेडिकल साइंटिस्ट (medical scientist) है तो वो हर दिन नई नई मेडिसिन की खोज में लगे रहते हैं ताकि बीमारियों को खत्म किया जा सके इस तरह से हमारे वैज्ञानिक (scientists) दिन रात रिसर्च में लगे रहते हैं।

Qualification क्या चाहिए? (Scientist Qualification in India)

दोस्तों क्यों की scientist बनना आसान नहीं है, इनका काम बहुत मुश्किल होता है इस लिए इसमें पढ़ाई का बहुत महत्व है। वैसे तो एक साइंटिस्ट बनने का सपना देखने वालों के लिए यह जान लेना जरूरी है कि इसकी पढ़ाई कभी खत्म ही नहीं होती है। क्योंकि साइंटिस्ट हर दिन सीखते रहते हैं लेकिन फिर भी अगर कोई साइंटिस्ट बनना चाहता है तो उसके लिए कुछ एजुकेशन क्वालिफिकेशन तय की गई है।

साइंटिस्ट बनने के लिए आपका 10th के बाद Physics, Chemistry, Biology, Maths जैसे विषयो को सेलेक्ट करना होता है। इसके बाद इन्हीं विषयों से ग्रैजुएशन और पोस्ट ग्रैजुएशन जैसे एमएससी (MSc), एमफिल (MPhil), इंजीनियरिंग (Engineering) और उसके बाद पीएचडी (PhD) आदि कर सकते हैं। उसके बाद आप साइंटिस्ट के पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं उसके बाद आप ISRO, NASA जैसी संस्था में साइंटिस्ट बन सकते हैं।

इसे भी पढ़े!

Age Limit कितनी है? (Scientist Age Limit)

सीखने की कोई उम्र नहीं होती, ठीक उसी तरह से एक साइंटिस्ट बनने के लिए कोई भी Age लिमिट नहीं है आप किसी भी उम्र में scientist बन सकते हैं। साइंटिस्ट बनना आसान नहीं है इसके लिए बहुत पढ़ाई करनी होती है तभी तो दोस्तों, साइंटिस्ट की रिस्पेक्ट किसी भी अन्य फील्ड से ज्यादा होती है। तो अगर आप भी साइंटिस्ट बनना चाहते हैं तो यह जान लीजिए कि इसमें उम्र की कोई लिमिटेशन नहीं है।

Scientist कितने तरह के होते है? (What Are The Types of Scientists)

देश और दुनिया में कई तरह के साइंटिस्ट होते हैं जो अलग अलग सब्जेक्ट पर रिसर्च करते रहते हैं। तो चलिए जानते हैं साइंटिस्ट कितने तरह के होते हैं:

  • जियोलॉजिस्ट (Geologist)
  • जियोग्राफर (Geographer)
  • बॉटनिस्ट (Botanist)
  • मैरीन बायोलॉजिस्ट  (Marine Biologist)
  • इकोलॉजिस्ट (Ecologist)
  • एग्रोनॉमिस्ट (Agronomist)
  • सिस्मोलॉजिस्ट (Seismologist)
  • जेनेटिसिस्ट (Geneticist)
  • केमिस्ट (Chemist)
  • माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Microbiologist)
  • ऐस्ट्रोनॉमर (Astronomer)
  • ज़ूलॉजिस्ट (Zoologist)
  • कॉलयूनो लॉजिस्ट (Callunologist)
  • सीटोलॉजिस्ट (Cytologist)
  • इकोलॉजिस्ट (Ecologist)
  • एपिडिमोलॉजिस्ट (Epidemiologist)

यह तमाम साइंटिस्ट दिन रात बस इसी कोशीश में लगे रहते हैं कि कैसे कैसे नई शोध के जरिए देश का विकास किया जाए।

Top College कौन-कौन से है? (Best Science Colleges in India)

हमारे देश में कई ऐसे टॉप कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ है जहाँ अलग-अलग सब्जेक्ट के साइंटिस्ट की पढ़ाई करवाई जाती है जहाँ पढ़कर लाखों बच्चे साइंटिस्ट बनते हैं। तो चलिए जानते हैं उन्हीं में से कुछ टॉप कॉलेजेस और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में:

  • हिंदू कॉलेज (Hindu College)
  • संत स्टेफेंस (St. Stephens)
  • जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University)
  • पटियाला हाउस (Patiala House)
  • जैन यूनिवर्सिटी (Jain University)
  • कलिंगा यूनिवर्सिटी (Kalinga University)
  • सन जेवियर्स कॉलेज (Sun Xavier’s College)
  • हंसराज कॉलेज (Hansraj College)
  • स्टेला मैरिस कॉलेज (Stella Maris College)
  • विल्सन कॉलेज (Wilson College)
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी (Christ University)

दोस्तों इसके अलावा और भी कई ऐसे कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ है जहाँ से आप पढ़ाई कर सकते हैं और एक अच्छे साइंटिस्ट बन सकते है।

ISRO में साइंटिस्ट कैसे बने? (ISRO me Scientist Kaise Bane in Hindi)

ISRO में रिक्रूटमेंट की दो प्रक्रिया है और दोनों ही तरीके से आप इसमें जॉब पा सकते हैं। पहला तो यह है कि इसके लिए आपको आईएसटी (IST) यानी की इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी (Indian Institute of Space Technology) में ऐडमिशन लेना होगा अगर आपको यहाँ ऐडमिशन मिल जाता है और अगर आप पुरे लगन के साथ पढ़ाई करते हैं तो आपका साइंटिस्ट बनना कन्फर्म है। क्योंकि हर साल इसरो आईएचडी (IHD) से पढ़ने वाले स्टूडेंट की भर्ती करता है और वैसे आपको बता दें कि ऐसा कहा जाता है कि इस इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाले सभी छात्रों को इसरो भर्ती कर लेता है।

इसलिए यह एक अच्छा तरीका है ISRO में नौकरी पाने का दोस्तों इसके अलावा दूसरा रास्ता है एग्जाम देकर इसरो में नौकरी पाने का दरअसल, इसरो हर साल भर्ती के लिए एग्जाम कंडक्ट करवाता है। इसके लिए बकायदा एक बोर्ड भी है जिसे आइसीआरबी (ICRB) कहते हैं इसका फुल फॉर्म Centralized Equipment Board होता है ये एग्जाम तीन कैटगरी में कंडक्ट करवाई जाती है इलेक्ट्रॉनिक (Electronic), मैकेनिकल (Mechanical) और कंप्यूटर (Computer).

मतलब क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए?

इसमें बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (Bachelor of Engineering), बैचलर ऑफ साइंस (Bachelor of Science), बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (Bachelor of Technology) होनी चाहिए। अगर आपने इन कोर्सेज को कर रखा है तो आप इस एग्जाम में शामिल हो सकते हैं, लेकिन याद रहे इस कोर्स में आपका कम से कम 65% या फिर उससे ज्यादा मार्क्स होना जरूरी है तभी आप एग्जाम में शामिल हो सकते हैं। और अगर आपने इस एग्जाम को क्लियर कर लिया तो आपकी नौकरी ISRO जैसी संस्था में पक्की है, हालांकि अलग अलग डिपार्टमेंट में जॉब के लिए अलग अलग रिक्रूटमेंट प्रक्रिया है, जिसे आप उसकी वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं।

Top Recruiters कौन-कौन है? (Best Science Recruiters)

अगर आपने scientist की पढ़ाई कर ली तो कहा कहा आपकी जॉब लग सकती है बहुत सारे स्टूडेंट्स के मन में ये सवाल आता है कि साइंटिस्ट बनने के बाद कहा नौकरी लग सकती है। क्योंकि ज्यादातर स्टूडेंट समझते हैं कि साइंटिस्ट का मतलब ISRO और NASA होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। तो चलिए जानते हैं टॉप रिक्रूटर्स की बारे में:

  • National Aeronautics and Space Administration (NASA)
  • Indian Space Research Organization (ISRO)
  • Indian Association for Cultivation of Science (IIS)
  • Indian Institute of Science Education and Research (IISER)
  • Tata Institute of Fundamental Research (TIFR)
  • Aryabhatta Research Institute of Observational Sciences (ARIS)
  • Indian Institute of Tropical Metrology (IITM)
  • Defense Research and Development Organization (DRDO)
  • Bhabha Atomic Research Center BARC
  • Indian Council of Agricultural Research (ICAR)
  • Council of Scientific and Industrial Research (CSIR)
  • Indian Institute of Tropical Metrology (IITM)

Salary कितनी मिलती है? (Scientist Salary in India)

तो इन में से किसी भी डिपार्टमेंट या फिर इन्स्टिट्यूशन में आपकी जॉब लगती है तो आपकी सैलरी इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस पोस्ट पर है, आपको कितना अनुभव है? वैसे आपको ज्यादा चिंता करने की जरुरत नहीं है क्योंकि अगर आप साइंटिस्ट बनते हैं तो आपकी शुरुआती सैलरी 30,000/- हज़ार से लेकर 1 लाख रुपए तक हो सकती है। और आप जैसे-जैसे आपका एक्सपीरियन्स बढ़ेगा तो आपका प्रमोशन भी होगी और धीरे धीरे आपकी सैलरी भी बढ़ती चली जाएगी।

इसे भी पढ़े!

Scientist के लिए क्या स्किल होनी चाहिए? (Science Skills Needed)

हर जॉब के लिए अलग स्किल की जरूरत पड़ती है हालांकि जिंस व्यक्ति में जॉब की जरूरत के हिसाब से स्किल नहीं होती वो अपने काम को पूरे मन से नहीं कर पाता और धीरे धीरे उसे उस काम से मन हट जाता है। एक साइंटिस्ट जब कोई रिसर्च करता है तो रिसर्च पेपर निकलता है इसलिए एक साइंटिस्ट के लिए अच्छी राइटिंग स्किल होनी जरूरी है। उसके बाद आप जीस भी क्षेत्र में हो आपको उसकी डिटेल नॉलेज होनी चाहिए। एक साइंटिस्ट का नेचर क्यूरियस होना चाहिए यानी की उसे नई नई चीजों को जानने और खोजने में रुचि होनी चाहिए तभी वो अपने फील्ड में कुछ नया खोज पाएगा।

दोस्तों, हम उम्मीद करते है कि आपको यह जानकारी (scientist kaise bane in hindi) पसंद आई होगी और इससे उन लोगो को काफी सारी मदद मिली होगी जो की अपना करियर वैज्ञानिक क्षेत्र में बनाना चाहते है। अगर आपके कोई सुझाव या प्रश्न हो तो आप हमें निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में बेफिक्र होकर पूछ सकते है और हो सके तो इस जानकारी को शेयर करना बिलकुल न भूले ताकि दूसरों को भी इसका फायदा मिल सके धन्यवाद्।

FAQs | Scientist Kaise Bane in Hindi

साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करना चाहिए?

साइंटिस्ट बनने के लिए आपका 10th के बाद Physics, Chemistry, Biology, Maths जैसे विषयो को सेलेक्ट करना होता है। इसके बाद इन्हीं विषयों से ग्रैजुएशन और पोस्ट ग्रैजुएशन जैसे एमएससी (MSc), एमफिल (MPhil), इंजीनियरिंग (Engineering) और उसके बाद पीएचडी (PhD) आदि कर सकते हैं।  उसके बाद आप साइंटिस्ट के पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं

साइंटिस्ट कितने तरह के होते हैं?

देश और दुनिया में कई तरह के साइंटिस्ट होते हैं जो अलग अलग सब्जेक्ट पर रिसर्च करते रहते हैं। तो चलिए जानते हैं साइंटिस्ट कितने तरह के होते हैं:
जियोलॉजिस्ट (Geologist)
जियोग्राफर (Geographer)
बॉटनिस्ट (Botanist)
मैरीन बायोलॉजिस्ट  (Marine Biologist)
इकोलॉजिस्ट (Ecologist)
एग्रोनॉमिस्ट (Agronomist)
सिस्मोलॉजिस्ट (Seismologist)
जेनेटिसिस्ट (Geneticist)
केमिस्ट (Chemist)
माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Microbiologist)
ऐस्ट्रोनॉमर (Astronomer)
ज़ूलॉजिस्ट (Zoologist)
कॉलयूनो लॉजिस्ट (Callunologist)

इसरो में जाने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी चाहिए?

इसमें बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (Bachelor of Engineering), बैचलर ऑफ साइंस (Bachelor of Science), बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (Bachelor of Technology) होनी चाहिए। अगर आपने इन कोर्सेज को कर रखा है तो आप इस एग्जाम में शामिल हो सकते हैं.

होमपेजयहाँ क्लिक करे!

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here