(2021) MS Dhoni History in Hindi: महेंद्र सिंह धोनी की सुनी-अनसुनी बातें

MS Dhoni History in Hindi

MS Dhoni History in Hindi: दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं भारतीय क्रिकेट के हीरो महेंद्र सिंह धोनी (Mahender Singh Dhoni ) की वे जैसे ही ग्राउंड पर आते हैं धोनी धोनी की गूंज अपने आप शुरू हो जाती है जैसे सचिन तेंदुलकर, आपको याद होगा जब सचिन तेंदुलकर ग्राउंड पर आते थे तो किस तरीके से  पूरा ग्राउंड चिल्लाने लगता था और लोग खुश हो जाते थे वैसे ही MS Dhoni  के साथ होता है।

एक Legendary Cricketer कप्तान भारत के क्या पुरी दुनिया के सबसे सफल कप्तान Mahender Singh Dhoni (MS Dhoni) की आज हम बात करेंगे। हालांकि इस क्रिकेटर के ऊपर एक मूवी भी बनी हुई है दोस्तों वह तो सबने देखी ही होगी। पर आज में इस Article के जरिए उनके सुने-अनसुने पहलु आपके सामने पेश करने जा रहा हु। अगर आप लोगो को भी महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी के बारे में सबकुछ जानना हे तो शुरू से लेके आखिर तक जरूर पढ़े।

महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय (MS Dhoni History in Hindi)

महेंद्र सिंह धोनी अथवा मानद लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी (एम एस धोनी) का जन्म झारखण्ड के रांची में एक मध्यम वर्गीय राजपूत परिवार में 7 जुलाई जुलाई 1981 में हुआ था। रांची जो उस समय बिहार में था 2000 में बिहार बैठ गया झारखंड में और उस समय झारखंड की कैपिटल राजधानी रांची थी। इनके पिता जी का नाम पान सिंह व माता श्रीमती देवकी देवी है।

उनके पिताजी श्री पान सिंह मेकोन कंपनी के जूनियर मैनेजमेंट वर्ग में काम करते थे। धोनी की एक बहन है जिनका नाम है जयंती गुप्ता और एक भाई नरेंद्र सिंह धोनी है। धोनी का बडा भाई नरेंद्रसिंह राजनीति में कार्यरत है और उनकी बहन जयंती गुप्ता एक शिक्षिका है।

धोनी का संक्षिप्त परिचय (MS Dhoni Birthday in hindi)

पूरा नाम: महेंद्र सिंह धोनी

जन्म: 7 जुलाई 1981 रांची, बिहार (अब झारखंड), भारत

उपनाम: माही,एमएसडी, एमएस, कैप्टन कूल (Thala)

जाति: राजपूत

कद: 5 फीट 10 इंच (1.78 मीटर)

बल्लेबाजी की शैली: दाएं हाथ से

गेंदबाजी की शैली: दाएं हाथ से मध्यम गति से

भूमिका: विकेट-कीपर, बल्लेबाज

वाइफ: साक्षी धोनी

बेटी: जीवा

टेस्ट में पदार्पण (कैप 251): 2 दिसम्बर 2004 बनाम श्रीलंका

अंतिम टेस्ट: 26 दिसम्बर 2014 बनाम ऑस्ट्रेलिया

वनडे पदार्पण (कैप 158): 23 दिसम्बर 2004 बनाम बांग्लादेश

अंतिम एक दिवसीय: 17 जुलाई 2018 बनाम इंग्लैंड

एक दिवसीय शर्ट स॰: 7

टी20ई पदार्पण (कैप 2): 1 दिसम्बर 2006 बनाम दक्षिण अफ्रीका

अंतिम टी20ई: 22 दिसम्बर 2017 बनाम श्रीलंक

MS Dhoni Biography in Hindi

धोनी की शादी (MS Dhoni Biography in Hindi)

भारतीय team के Captain Mahender Singh Dhoni की शादी Sakshi Singh Rawat से 4 जुलाई 2010 में रांची में बड़े धूम-धाम से रचाई गई थी। साक्षी का जन्म 19 नवम्बर 1988 को गुवाहाटी में हुआ था। उनकी शुरुआती पढाई देहरादून के वेलहम गर्ल्स स्कूल से करने के बाद Sakshi Singh Rawat ने 2008 में औरंगाबाद के Institute of Hotel Management से होटल मेनेजमेंट का कोर्स किया।

पहली बार 2008 में साक्षी और धोनी की मुलाकात ताज बेंगोल में हुई जब भारतीय Team पाकिस्तान के साथ होने वाली मैच के लिए ताज होटल में रुकी थी। उसके बाद उन दोनों में प्यार हुआ और 3 जुलाई 2010 को देहरादून के एक hotel में दोनों ने सगाई कर ली।

Dhoni और Sakshi के शादी के 5 साल बाद 6 फेब्रुअरी 2015 को गोरेगांव के Fortis Hospital में एक प्यारी सी एंजेल (Ziva) का जन्म हुआ। आप लोगों को बता दू की तब MS Dhoni india में नहीं थे क्यों की  तब West Indies में ICC Cricket World Cup 2015 चल रहा था।

धोनी का क्रिकेट करियर (MS Dhoni History in Hindi)

MS Dhoni की शुरुआती पढ़ाई द एवी जवाहर विद्यालय मंदिर श्यामली में पढ़ते थे। आप लोगो को बता दूं कि वह पहले तो फुटबॉलर थे और फुटबॉल बहुत बढ़िया खेलते थे और बैडमिंटन के खेल में भी रूचि रखते थे। फुटबॉल में अपना अच्छे प्रदर्शन के कारण वे जिला एवं क्लब लेवल में चुने गए थे। धोनी अपने फुटबॉल टीम के गोलकीपर भी रह चुके है।

उन्हें लोकल Cricket Club में क्रिकेट खेलने के लिए उनके फुटबॉल कोच ने भेजा था। उसने कभी क्रिकेट नहीं खेला था, फ़िर भी धोनी ने अपने wicket-keeping के कौशल से सबको प्रभावित किया और कमांडो क्रिकेट क्लब के नियमित विकेटकीपर बने। क्रिकेट क्लब में उनके अच्छे प्रदर्शन के कारण उन्हें सीज़न के वीनू मांकड़ ट्राफी अंडर-16  चैंपियनशिप में चुने गए जहां उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया और बाद में वे एक अच्छे क्रिकेटर बनकर उभरे।

उसके बाद जब MS Dhoni बेटिंग करनी शुरू की तो वह batting भी बहोत अच्छी करने लगे। इस तरह वो cricket में wicket keeping और batting दोनों ही बहोत अच्छी करते थे।

उसके बाद Dhoni ने club join (Commando Cricket Club) किया और वहा भी उसका बहोत बढ़िया performance रहा। इसी दौरान उन्होंने एक मैच में Open किया और उस Match में MS Dhoni ने इतने चौके-छक्के मारे की सबको हैरान कर दिया। और उसके बाद “माहि मार रहा है” यह फेवरिट डायलॉग बहुत गुंजा।

दोस्तों आप लोगो को बता दू की 2001 से लेकर 2003 तक वह Traveling Ticket Examiner (TTE) भी थे। उन्होंने रेल्वे में as a Ticket Collector (TTE) की  job भी की लेकिन उन्हें उस जॉब में बिलकुल ही मन नहीं लगता था। और इस लिए बादमे उन्होंने वह Railway की job छोड़ दी थी।

उसके बाद महिन्दर सिंह धोनी के लिए 1998-99 का season क्रिकेट के लिहाज़ से बहोत ही बढ़िया रहा। under -16 में वह select हुए, U-19 में भी वह select हुए। और सलेक्ट होने का एक यह भी कारन रहा की उस समय झारखंड असोसिएट के प्रमुख देवेंदर साहनी ने उसको एक मैच खेलते देखा और वह एम् एस धोनी से बहुत इम्प्रेस हुए।

फिर उसके बाद U-19 में Mahender Singh Dhoni  का बहोत ही ज्यादा अच्छा परफॉर्मन्स रहा। और फिर उसके बाद देवधर ट्रॉफी में भी बहोत ही अच्छा प्रदर्सन दिखाया, Ranji Trophy में  उन्होंने Debut किया बिहार की तरफ से वह भी बहोत अच्छा रहा उनकी और से।

फिर उसके बाद U-19 में Mahender Singh Dhoni  का बहोत ही ज्यादा अच्छा परफॉर्मन्स रहा। और फिर उसके बाद देवधर ट्रॉफी में भी बहोत ही अच्छा प्रदर्सन दिखाया, Ranji Trophy में  उन्होंने Debut किया बिहार की तरफ से वह भी बहोत अच्छा रहा उनकी और से।

एक ऐतिहासिक पल था जब Panjab में U-19 का एक मैच हुआ था धोनी ने 84 run बनाये थे 1999 की बात है Cooch Bihar Trophy थी और उनकी team bihar का 357 का स्कोर था। उसी मैच में Yuvraj Singh खेल रहे थे और उन्होंने 358 Run बनाये थे और 839 Panjab का score था।

और अगले साल युवराज का तो Debut हो गया लेकिन Dhoni ka Debut नहीं हो पाया। क्यों नहीं हो पाया उन्होंने रणजी खेल ली। जैसे ही ज्यादातर लोगो का मानना होता है की जो क्रिकेट खेलते है या फिर कोई Sports खेलते हे वह सोचते हे की एक लेवल तक चले जाने के बाद सरकारी नौकरी पक्की और ज्यादातर लोग आपको ऐसे मिलेंगे जो खली Sarkari Job के लिए ही खेलते है।

तो यहाँ रेल्वे की तरफ से धोनी को offer आ गया और उनके माता-पिता चाहते थे की Dhoni वह relway की सरकारी job करे क्योकि वह मानते थे की सरकारी जॉब में life set है और Cricket का तो पता नहीं की उनमे आगे जाके क्या हो सकता है।

और उस समय छोटी जगह के लोगो को क्रिकेट में बिलकुल ही मौका नहीं मिलता था और Dhoni झारखंड के रहने वाले थे और Jharkhand एक छोटा state था। बहोत से ऐसे क्रिकेटर थे जो छोटी जग़ह से होते थे और वह समय के साथ कही गुम हो गए थे।

यह बाद में BCCI ने समझा और एक प्रोग्राम चलाया की छोटी जग़ह से जो लोग आते हे उन्हें भी एक मौका मिलना चाहिए। और उन्हीमे MS Dhoni को Select किया गया। इस लिए BCCI का भी एक बहोत बड़ा रोल है MS Dhoni Ke Career में।

बादमे महेंद्र सिंह धोनी ने बहोत सारे मैच खेले बहोत अच्छा Performance रहा फिर लगभग एक साल के बाद MS Dhoni का 2004/05 selection हुवा एकदिवसीय टीम ODI के लिए बांग्लादेश के खीलाफ और धोनी पहली ही बार में 0 पे रन आउट हो गए। इस तरह Bangladesh की सीरीज उनके लिए कुछ खास नहीं रही।

फिर उसके बाद Pakistan ki सीरीज शुरू हुई और वह पाकिस्तान के खिलाफ खेले और उस सीरीज में पांचवा मैच हुवा था Visakhaptanam में तो उस में धोनी ने  इतने चौके-छक्के मारे की 123 बोल में 148 रन बनके Record बना दिया।

बादमे महेंद्र सिंह धोनी ने बहोत सारे मैच खेले बहोत अच्छा Performance रहा फिर लगभग एक साल के बाद MS Dhoni का 2004/05 selection हुवा एकदिवसीय टीम ODI के लिए बांग्लादेश के खीलाफ और धोनी पहली ही बार में 0 पे रन आउट हो गए। इस तरह Bangladesh की सीरीज उनके लिए कुछ खास नहीं रही।

फिर उसके बाद Pakistan ki सीरीज शुरू हुई और वह पाकिस्तान के खिलाफ खेले और उस सीरीज में पांचवा मैच हुवा था Visakhaptanam में तो उस में धोनी ने  इतने चौके-छक्के मारे की 123 बोल में 148 रन बनके Record बना दिया।

और उसके बाद Cricket में सिर्फ धोनी ही धोनी। फिर उनकी अगली सीरीज बहोत ही बढ़िया गई। श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने मैच खेला Srilanka ने 299 Run का target दिया था और उन्होंने अपना Career Best 145 Ball में 183 Run बनाये थे।

उसके बाद क्रिकेट का काला दिन 2007 World Cup वो दिन जो हर किसीको याद रहेगा। West indies में वो world cup भारत श्रीलंका से हार गया था। उस समय सभी लोगो ने MS Dhoni को बहोत गालिया दी थी और रांची में उनके घर तक पे हमला हो गया था।

उसके बाद भारत अगले स्टेज (Super 8) तक क्वॉलिफॉय नहीं कर पाया था। वह World Cup ऑस्ट्रेलिया जीता था। और बहोत ज्यादा सब दुखी थे।

सबको लग रहा था की Yuvraj Sigh Captain बनेंगे या फिर Virendra Sehwag को कॅप्टन बनाया जायेगा लेकिन Captain ship Mahendra singh dhoni को दी गई और यह देख कर सबकोई आश्चर्य चकित रह गया की ये कैसे हो गया। और उसी साल World Cup T-20 होने वाला था।

2007 वर्ल्ड कप

जब 2007 का टी-२० वर्ल्ड कप हुआ इससे पहले भारत ने कभी भी बहार जाके मैचेस मल्टी टूर्नामेंट होते थे जैसे की Triseries  होती थी World Cup होते थे वह नहीं जीते थे। सिर्फ एक बार ऐसा हुआ था जब Sourav ganguly ने 2002 में Natwest series जीता था जब उन्होंने अपना टी-शर्ट उतरा था।

2007 वर्ल्ड कप Twenty20 में MS Dhoni का Performance बहोत ही शानदार रहा। और As  Captain उन्होंने कमाल ही कर दिया और भारत World Cup जित गया। और वह दिन आज तक सभी लोगो को पता होगा की पूरी मुंबई रुक गई थी और भारतीय टीम का स्वागत इस तरह हुवा था की पूरा वर्ल्ड देख रहा था की बस के ऊपर पूरी भारतीय टीम World Cup लेकर आ रही थी और पूरा मुंबई जोर सोर से उनका स्वागत कर रहा था।

2011 विश्व कप

उसके बाद दोस्तों 2011 में ICC Cricket World Cup हुआ इंडिया में। सबको लगता था की India ही वर्ल्ड कप जीतेगा धोनी ने सरे लीग मैच जीते थे। सेमीफइनल पाकितान से हुआ और पाकिस्तान को हरा दिया। Quarter Finals ऑस्ट्रेलिया से हुआ और ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया। और Final श्रीलंका से हुआ श्रीलंका ने 275 रन बनाये थे और धोनी को Man of the match मिला 91 रन बनाये थे और भारत वर्ल्ड कप जित गया था।

2013 ICC Champions Trophy

2013 ICC Trophy भी भारत के लिए बहोत ही अच्छा रहा था बहोत ही Close मैच रहा था और भारत जित गया था ICC Champions Trophy. MS Dhoni एक ऐसे लौटे कॅप्टन थे जिन्होंने सारी ICC Trophies जीती थी।

2015 क्रिकेट विश्व कप दौरान धोनी बन गए सभी ग्रुप चरणों में मैच जितने वाले पहले भारतीय कॅप्टन। फिर धोनी ने जनवरी 2017 में कॅप्टेन्सी से रिटायरमेंट ले ली और Virat Kohli अगले कॅप्टन बने।

MS Dhoni (History in hindi) पहले विकेट कीपर बने जिन्होंने 100 से ज्यादा stamping की और Kumar Sangakkara को भी पीछे कर दिया। 2018 में धोनी 12 वे प्लेयर और चौथे भारतीय बने 10000 ODI रन बनाने वाले। अप्रैल 2019 में उन्हें नामित किया गया India’s squad for the 2019 Cricket World Cup.

प्रतियोगिताटेस्टवनडेटी२० अंटी२०
मैच9034198302
रन बनाये4,87610,5001,6176205
औसत बल्लेबाजी38.0950.7237.6038.54
शतक/अर्धशतक6/3310/710/20/24
उच्च स्कोर224183*5684*
गेंद किया963612
विकेट010
औसत गेंदबाजी31.00
एक पारी में ५ विकेट00
मैच में १० विकेट00
श्रेष्ठ गेंदबाजी1/14
कैच/स्टम्प256/38314/120159/78364/57

स्रोत : ईएसपीएन क्रिकइन्फो, 10 मार्च 2021

FAQ MS Dhoni History in Hindi

Q.1 महेंद्र सिंह धोनी अभी क्या करते हैं?

महेंद्र सिंह धोनी अभी CSK के कॅप्टनी में IPL (2021) खेल रहे है जो सायद उसका आखरी IPL हो सकता है इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी सन्यास ले सकते है।

Q.2 महेंद्र सिंह धोनी का जन्म कहां और कब हुआ था?

महेंद्र सिंह धोनी अथवा मानद लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी (एम एस धोनी) का जन्म झारखण्ड के रांची में एक मध्यम वर्गीय राजपूत परिवार में 7 जुलाई जुलाई 1981 में हुआ था।

Q.3 MS धोनी के माता पिता कौन है?

धोनी के पिता जी का नाम पान सिंह व माता श्रीमती देवकी देवी है।
उनके पिताजी श्री पान सिंह मेकोन कंपनी के जूनियर मैनेजमेंट वर्ग में काम करते थे और उनकी माता श्रीमती देवकी देवी एक गृहिणी है।

दोस्तों महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी (MS Dhoni History in Hindi) आप लोगो को कैसी लगी निचे कमेंट बॉक्स में जरूर बातये और अगर आप लोगो को ऐसे ही ऐतिहासिक लोगो और ऐतिहासिक विषयो के बारे में रोचक और कही-अनकही बाटे जाननी है तो हमारी website My Secret Guide को जरूर visit करते रहे Thank You for Reading our Post….

Spread the love

1 thought on “(2021) MS Dhoni History in Hindi: महेंद्र सिंह धोनी की सुनी-अनसुनी बातें”

Leave a Comment