Christmas Day 2021: क्रिसमस का महत्व और क्यों मनाया जाता है क्रिसमस का त्योहार जानें डेट और इतिहास के साथ पूरी जानकारी!

Christmas ka mahatva in Hindi

Christmas 2021: जाने क्यों मनाया जाता है क्रिसमस का पर्व? साथ ही क्रिसमस के त्योहार डेट, इतिहास, महत्व और अपने प्रियजनों को दें इन शुभकामना संदेशों से क्रिसमस की बधाई!

Merry Christmas 2021: दोस्तों क्या आप जानते है की क्रिसमस दे (Christmas Day 2021) क्यों मनाया जाता है क्रिसमस का क्या महत्व है? और उसी से जुडी कुछ खास बातों के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे की क्या भारत में भी क्रिसमस का त्यौहार मनाया जाता है? तो आज हम इस पोस्ट में क्रिसमस से जुडी सारी जानकारी आप लोगों को देने जा रहे है कृपया इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े।

क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है? (Why is Christmas Celebrated in Hindi)

क्रिसमस 2021 (Christmas 2021) आ गया है सभी अपने घरे के साथ-साथ चर्ज (Church) को भी बहोत खूबसूरती से सजा रहे है जैसे हम दिवाली का त्यौहार मनाते है। भारत में भी अब क्रिसमस का त्यौहार सभी धर्मो के लोग बड़ी धूम-धाम से मानाने लगे है।

पुरानी कथाओं के अनुसार 25 दिसंबर यानी (Christmas Day ka Mahtva) के दिन ईसाई धर्म की स्थापना करने वाले प्रभु यीशु ख्रीस्त का जन्म मरियम के यहां हुआ था। इसी खुशी के कारन पूरी दुनिया में यह त्यौहार (क्रिसमस डे) मनाया जाता है।

क्या आप लोग जानते हैं कि क्रिसमस का त्यौहार सिर्फ 25 दिसंबर (25 December) के दिन ही नहीं बल्कि यह त्यौहार पूरे 12 दिन यानि 25 दिसंबर से 5 जनवरी (5 January) तक मनाया जाता है। तो दोस्तों आइए जानते है इन 12 दिनों के त्यौहार के बारे में और उनके महत्व को।

क्रिसमस का महत्व (Christmas ka Mahatva in Hindi)

क्रिसमस का महत्व (Christmas ka Mahatva in Hindi) ईसाई धर्म के लोगो के सबसे ज्यादा होता है क्यों की उस दिन प्रभु यीशु का जन्म हुआ था इस लिए इस अवसर को लोग त्यौहार के रूप में मानते है। क्रिसमस का पर्व ईसाइयों में ही नहीं अब सभी धर्मों के लोग पूरे धूमधाम से मानते है, यह पर्व पुरे 12 दिनों तक चलता है। क्रिसमस ईव यानि क्रिसमस की पूर्व संध्या धार्मिक और गैर-धार्मिक दोनों परंपराओं से जुड़ी है। इन परम्पराओं का मुख्य केंद्र प्रभु यीशु का जन्म है।

क्रिसमस के दिन रोमन कैथोलिक और एंग्लिकन मिडनाइट मास का आयोजन करते हैं। लुथेरन कैंडल लाइट सर्विस और क्रिसमस कैरोल के साथ जश्न मनाया जाता हैं, कई एवेंजेलिकल चर्च में शाम की सेवाओं का आयोजन भी होता है जहां परिवार पवित्र भोज बनाते हैं इस तरह पुरे 12 दिन क्रिसमस का त्यौहार पुरे उत्साह के साथ मनाया जाता है।

सांता क्लॉज का इतिहास (Santa Claus History)

आप सभी ने सांता क्लॉज का नाम तो सुना ही होगा लेकिन आप सभी को सिर्फ इतना ही पता होगा की सांता क्लॉज आते है और बच्चों को तोहफे बांटते हैं। लेकिन  क्या आपको उसके पीछे का इतिहास का पता है।

सांता निकोलस को सांता क्लॉज के नाम से जाना जाता है, ऐसा मन जाता है की सांता निकोलस का जन्म प्रभु यीशू मसीह के मृत्यु के 280 साल बाद हुआ था। यह मन जाता है की सांता निकोलस ने अपना पूरा जीवन प्रभु यीशू मसीह को समर्पित कर दिया था। इस लिए वह हर साल यीशू के जन्मदिन पर रात को अंधेरे में जाकर बच्चों को तोहफे दिया करते थे तभी से लेकर आज तक यह दौर चलता आया है और लोग आज भी सांता क्लॉज बनकर बच्चों को तोहफे बांटते रहते हैं।

क्रिसमस पर्व के 12 दिनों का महत्व (Christmas ke 12 Day ka Mahtva)

25 दिसबंर 

पहला दिन क्रिसमस डे (Christmas Day 2021) के रूप में मनाया जाता है, इस दिन को प्रभु यीशु मसीह के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। और  इसी दिन से यह त्यौहार की शुरुआत होती है।

26 दिसंबर 

ऐसा मना जाता है कि सेंट स्टीफन ने सबसे पहले ईसाई धर्म के लिए कुर्बानी दी थी। इस लिए यह दिन सेंट स्टीफन डे के नाम से भी जाना जाता है, इस दिन को बॉक्सिंग डे के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है।

27 दिसंबर 

तीसरा दिन यानि की 27 दिसंबर सेंट जॉन को समर्पित होता है, सेंट जॉन ईसा मसीह से प्रेरित और उनके मित्र माने जाते हैं।

28 दिसंबर 

कहा जाता है कि इस दिन यानि की 28 दिसंबर किंग हीरोद ने ईसा मसीह को ढूंढते समय कई मासूम लोगों का कत्ल कर दिया था। इस लिए इस दिन उन्हीं मासूम लोगों की याद में प्रार्थना का आयोजन किया जाता है।

29 दिसंबर 

क्रिसमस के त्यौहार का पांचवां दिन यानि की 29 दिसंबर सेंट थॉमस को समर्पित किया जाता है। क्यों की 12वीं सदी में चर्च पर राजा के अधिकार को चुनौती देने पर आज ही के दिन उनका कत्ल कर दिया गया था।

30 दिसंबर 

छठवें दिन यानि 30 दिसंबर को ईसाई धर्म के लोग सेंट ईगविन ऑफ वर्सेस्टर को याद करते हैं।

31 दिसंबर 

सातवें दिन के बारे में कहा जाता है कि इस दिन को पोप सिलवेस्टर ने सेलिब्रेट किया था। कई यूरोपियन देशों में नए साल से पहले की शाम को सिलवेस्टर कहा जाता है, इस दिन खेल-कूद का आयोजन किया जाता हैं।

1 जनवरी 

क्रिसमस का आंठवां दिन यानि की 1 जनवरी प्रभु यीशु की मां मदर मैरी को समर्पित होता है। और इस लिए लोग Merry Christmas भी कहते है। 

2 जनवरी 

2 जनवरी नौवां दिन, चौथी सदी के सबसे पहले ईसाई ‘सेंट बसिल द ग्रेट’ और ‘सेंट ग्रेगरी नाजियाजेन’ की याद में उन्हें समर्पित किया जाता है।

3 जनवरी 

3 जनवरी दशवे दिन ऐसा मना जाता है कि इस दिन प्रभु यीशु मसीह का नाम रखा गया था और तभी से इस दिन चर्च को सजाया जाता है और गीत गा कर उत्सव मनाया जाता हैं।

4 जनवरी 

ग्यारहवां दिन यानि 4 जनवरी के दिन 18वीं और 19वीं सदी की संत सेंट एलिजाबेथ को समर्पित किया जाता है। इस दिन उन्हें याद किया जाता है, वे अमेरिका की पहली संत थीं।

5 जनवरी 

5 जनवरी बारहवां और आखिरी दिन अमेरिका के पहले बिशप सेंट जॉन न्यूमन को समर्पित किया जाता है और इस दिन को एपीफेनी भी कहा जाता है।

Merry Christmas 2021: अपने प्रियजनों को दें इन शुभकामना संदेशों से क्रिसमस की बधाई!

Merry Christmas 2021
ना कार्ड भेज रहा हूँ,
ना कोई फूल भेज रहा हूँ,
सिर्फ सच्चे दिल से मैं आपको,
क्रिसमस और नव वर्ष की,
शुभकामनाएं भेज रहा हूँ
Merry Christmas 2
खुदा से क्या मांगू तुम्हारे वास्ते,
सदा खुशियाँ हो तुम्हारे रास्ते,
हंसी तुम्हारे चेहरे पर रहे कुछ इस तरह,
खुशबू फूल का साथ निभाए जिस तरह! क्रिसमस की बधाईयाँ
Merry Christmas 3
रब ऐसी क्रिसमस बार-बार लाये,
क्रिसमस पार्टी में चार चाँद लग जाये,
सांता क्लॉज़ से हर दिन मिलवायें,
और हर दिन आप नए-नए तौफे पायें!
हैप्पी क्रिसमस!
Merry Christmas 4
चाँद ने अपनी चांदनी बिखेरी है,
और तारों ने आस्मां को सजाया है,
लेकर तौफा अमन और प्यार का,
देखो स्वर्ग से कोई फ़रिश्ता आया है
Merry Christmas 5
आपकी आंखों से सजे हो जो भी सपने,
और दिल में छुपी हो जो भी अभिलाषाएं,
यह किसमस का पर्व उन्हें सच कर जाए,
आपके लिए है हमारी यही शुभकामनाएं..
मेरी क्रिसमस!
होमपेजयहाँ क्लिक करे!

इसे भी पढ़े!

Disclaimer

इस आर्टिकल में दी गई सभी जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। mysecretguide.com इनकी कोई पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here